Hindi News Portal
देश

देश में बिजली संयंत्रों की मांग पूरी करने के लिए कोयले का पर्याप्त भंडार

नई दिल्ली : देश बढते बिजली के संकट को देखते हुऐ कोयला मंत्रालय ने आश्वस्त किया है कि बिजली संयंत्रों की मांग पूरी करने के लिये देश में कोयले का प्रचुर भंडार उपलब्ध है। मंत्रालय ने कहा कि विद्युत आपूर्ति बाधित होने की कोई भी आशंका पूरी तरह निराधार है। कोयला कंपनियों से भरपूर आपूर्ति के कारण इस वर्ष कोयला आधारित घरेलू बिजली उत्पादन लगभग 24 प्रतिशत बढ़ा है। मंत्रालय ने बताया कि मॉनसून की अवधि बढ़ जाने के कारण आपूर्ति बाधित हुई थी। मंत्रालय ने कहा कि बिजली संयंत्रों में कोयले की प्रतिपूर्ति कोयला कंपनियों से की जाने वाली दैनिक आपूर्ति से होती रहती है और संयंत्रों में कोयला भंडार खत्म हो जाने की कोई भी आशंका भ्रामक है।
कोयला मंत्रालय ने कहा कि कोल फील्ड क्षेत्रों में भारी वर्षा के बावजूद कोल इंडिया लिमिटेड ने इस वर्ष बिजली सेक्टर को 255 मीट्रिक टन से अधिक कोयले की आपूर्ति की है। अन्य स्रोतों से कुल कोयला आपूर्ति में से बिजली सेक्टर को मौजूदा आपूर्ति 14 लाख टन प्रतिदिन से अधिक है और वर्षा कम होने के साथ आपूर्ति बढ़कर 15 लाख टन प्रतिदिन हो गयी है। मंत्रालय ने कहा कि कोल इंडिया लिमिटेड इस महीने के अंत तक आपूर्ति बढ़ाकर 16 लाख टन प्रतिदिन से अधिक कर देगा।

 

 

10 October, 2021

विश्वन पर्यावरण से जुडी अनेक समस्या्ओं का सामना कर रहा है हम अगर बुद्ध के दिखाए मार्ग पर चलेंगे तो हमें सभी का समाधान मिल जाएंगा ; मोदी
कुशीनगर हवाई अडडे के उद्घाटन से दो हजार साल पुराने भारत-श्रीलंका के संबंधों को और मजबूत करेगा
कश्मीर के हालात पर पीएम मोदी और शाह जल्द ही कोई फैसला गृह मंत्री जल्द ही करेंगे घाटी का दौरा
घाटी मै आंतकवादीयो ने पिछले 16 दिनों में 11 गैर-स्थानीय लोगों की हत्या कर दी हैं
उत्तराखंड में मूसलाधार वर्षा प्रदेश में कई जगह बाढ़ के हालत है प्रधान मंत्री मोदी ने सीएम धामी से चर्चा की
मौसम की चेतावनी के मद्देनजर राज्य के सभी विभागों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। प्रधानमंत्री ने राज्य को हर संभव सहायता का आश्वाासन दिया है।
भारत, अफगानिस्तान पर आयोजित मास्को प्रारूप बैठक में भाग लेगा
इस वर्ष अगस्त में तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद यह पहली मॉस्को प्रारूप बैठक है
देशभर में मिले 14 हजार 146 नए मरीज, अबतक 144 की मौत
देश में अब तक 97 करोड़ 65 लाख से अधिक कोविडरोधी टीके लगाये गये, स्व स्थद होने की दर 98.10 प्रतिशत हुई