Hindi News Portal
विदेश

चीन ने 23 अक्टू बर को एक नया भूमि सीमा कानून पारित किय जाने पर भारत ने चिंता व्यक्त की

भारत ने चीन द्वारा सीमा कानून बनाए जाने के उस एकपक्षीय निर्णय पर चिंता व्यदक्तक की है जिससे सीमा प्रबंधन पर वर्तमान द्विपक्षीय सहमति और सीमा के प्रश्नत पर प्रभाव पड़ सकता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मीडिया के प्रश्नोंह के जवाब में बताया कि ऐसे एकपक्षीय कदम का उन पहले दोनों पक्षों द्वारा सहमति वाले मुद्दों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, भले ही ये सीमा के प्रश्नक पर हों या भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में वास्तदविक नियंत्रण रेखा के साथ शांति और सद्भाव बनाए रखने से संबंधित हों। उन्होंने यह भी कहा कि भारत यह आशा करता है कि चीन इस नये एकपक्षीय अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई करने से बचेगा, जिससे भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के अंतर्गत स्थिति में एकपक्षीय परिवर्तन हो सकता है।


श्री बागची ने कहा कि भारत इस बात से अवगत है कि चीन ने 23 अक्टूबबर को एक नया भूमि सीमा कानून पारित किया था। इस अधिनियम में कहा गया है कि अन्यि बातों के अलावा भूमि सीमा मामलों पर आपस में कुछ देशों द्वारा स्वी कृत या ऐसे देशों द्वारा की गई संधियों का चीन पालन करता है। इस अधिनियम में सेना क्षेत्रों में जिलों का पुनर्गठन किये जाने का भी प्रावधान है।


बागची ने कहा कि भारत और चीन ने अभी सीमा से संबंधित मुद्दों का समाधान नहीं किया है। उन्हों ने कहा कि दोनों पक्ष आपसी परामर्श के जरिये सीमा से जुड़े मुद्दों के समुचित तर्कसंगत और आपसी स्वीीकार्य समाधान पर सहमत हुए हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ताआ ने यह भी कहा कि दोनों देशों ने भारत-चीन सीमा पर वास्ताविक नियंत्रण रेखा के साथ शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए कई द्विपक्षीय समझौते, प्रोटोकॉल और व्यवस्थााएं की हैं।

newsonair

27 October, 2021

कोविड 19 की चौथी लहर की आंकाशा के चलते अमरीका ने अपने नागरिकों को जर्मनी और डेनमार्क की यात्रा नही करने की सलाह दी
जर्मनी, यूरोपीय संघ का सबसे अधिक आबादी वाला देश है जो इस समय महामारी की चौथी और सबसे गंभीर लहर से जूझ रहा है।
कोरोना वायरस की चौथी लहर का खतरा ! इस देश में फिर से लगाया जाएगा लॉकडाउन
ऑस्ट्रिया ने शुरु में केवल उन लोगों के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की शुरुआत की थी, जिनका वैक्सीनेशन नहीं हुआ है लेकिन संक्रमण के मामले बढ़ने पर सरकार ने सभी के लिए इसे लागू कर दिया।
रोम , जी20 शिखर सम्मेअलन मै प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्पेदन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज से मुलाकात की
मोदी ने सम्मेालन मै कहा कि भारत अगले वर्ष के अंत तक पांच अरब टीके बनाने के लिए तैयार है।
इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति सुकर्णो की बेटी सुकमावती सुकर्णोपुत्री ने इस्लाम छोड़कर अपनाया हिंदू धर्म
रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह समारोह सुकमावती के 70वें जन्मदिन पर कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ और कोविड के कारण इसमें सिर्फ 50 मेहमान ही शामिल हुए।
चीन ने 23 अक्टू बर को एक नया भूमि सीमा कानून पारित किय जाने पर भारत ने चिंता व्यक्त की
भारत और चीन ने अभी सीमा से संबंधित मुद्दों का समाधान नहीं किया है