Hindi News Portal
भोपाल

प्रदेश का प्रथम ग्रीन हाइड्रोजन गैस का प्लांट जल्द लगेगा

भोपाल ; मुख्यमंत्री निवास पर आज शिवराज सिंह चौहान से रिन्यू पॉवर प्राइवेट लिमिटेड के सीएमडी सुमंत सिन्हा की मुलाक़ात हुई | जिसमें मध्यप्रदेश में ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन की संभावनाओं पर चर्चा की। कम्पनी मध्यप्रदेश में 50 किलो टन क्षमता के ग्रीन हाइड्रोजन उत्पादन की परियोजना लगाने की इच्छुक है, जो विश्व में इस क्षमता की प्रथम परियोजना होगी। सिन्हा ने कहा कि ग्रीन एनर्जी से बनने वाली ग्रीन हाइड्रोजन पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से बहुत उपयोगी है। मध्यप्रदेश में उपलब्ध भरपूर सोलर तथा विंड एनर्जी को देखते हुए प्रदेश में ग्रीन हाइड्रोजन उत्पादन की पर्याप्त संभावना है। रिन्यू पॉवर प्रस्तावित परियोजना में 18 हजार करोड़ रुपए का निवेश करने को तैयार है। इससे लगभग दो हजार व्यक्तियों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए संचालित गतिविधियों के लिए राज्य सरकार सकारात्मक एवं संवेदनशील है। सुमंत सिन्हा मुख्यमंत्री को पौधा तथा भारत में नवकरणीय ऊर्जा पर लिखित पुस्तक “फॉसिल फ्री” भेंट की। प्रमुख सचिव ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा इस अवसर पर संजय दुबे, प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन संजय शुक्ला तथा रिन्यू पॉवर प्राइवेट लिमिटेड के मध्यप्रदेश प्रमुख केशव कानूनगो उपस्थित थे।

 

 

22 November, 2021

तीसरी लहर नहीं आये इसके लिए सबको वैक्सीन का दूसरा डोज लगाना सबसे बड़ा काम और पहली प्राथमिकता -
कोरोना के नए वेरिएंट के बारे में सावधानी जरूरी है। वैक्सीन के सेकंड डोज लगाने से बड़ा कोई काम नहीं है मुख्यमंत्री ने क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा
मुख्यमंत्री चौहान ने मास्क लगवाने का जन-जागरूकता अभियान सीहोर जिले के सलकनपुर से प्रारंभ किया
मुख्यमंत्री ने फेस मास्क वितरित किए और अपने हाथों से उन लोगों को लगाए, जो इसका उपयोग नहीं कर रहे थे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से अपील कोरोना की तीसरी लहर नहीं आने देने में सहयोग करें –
जिस संकट से हम सेकेण्ड दौर में गुजरे हैं, उसकी तकलीफें हम भूले नहीं हैं। हमको सावधान रहना ही होगा। हमको कोरोना नियंत्रित करने के सारे उपायों को अपनाना होगा।
प्रदेश में 6 नवीन मेडिकल कालेज को केबिनेट की मंजुरी
राज्य शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमेट) को वर्तमान में प्रशासन अकादमी से अलग कर स्वतंत्र इकाई के रूप में स्थापित किया जाएगा
कलेक्टर-एसपी के काम पर निर्भर है जनता को सुशासन देना , अच्छे कार्य का बेहतर असर होता है : सीएम
मुख्यमंत्री चौहान ने कमिश्नर-कलेक्टर्स एवं पुलिस अधीक्षकों की वीडियो कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया