Hindi News Portal
राजनीति

कृषि क़ानूनों की वापसी की घोषणा यह हमारी नाकामी है : उमा भारती

भोपाल: पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता उमा भारती ने कृषि कानूनों को वापिस लेकर एक के बाद एक ट्वीट कर अपनी ही पार्टीको क्टघरे मै खडा कर दिया सोमवार को अपने ट्वीट में उमा कृषि कानूनों को वापस लिए जने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विवादास्पद तीनों कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा करते समय जो कहा वह उनके जैसे लोगों को बहुत दुखी कर दिया ।
पूर्व मुख्यमन्त्रीउमा भारती ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री मोदी तीन कृषि कानूनों की महत्ता किसानों को नहीं समझा पाए तो उसमें हम सब बीजेपी के कार्यकर्ताओं की कमी है। उन्होंने यह भी कहा कि आज तक किसी भी सरकारी प्रयास से भारत के किसान संतुष्ट नहीं हुए। उमा ने एक के बाद एक ट्वीट कर लिखा, ‘‘मैं पिछले चार दिनों से वाराणसी में गंगा किनारे हूँ। 19 नवम्बर 2021 को हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने जब तीनों कृषि क़ानूनों की वापसी की घोषणा की तो मैं एकदम अवाक रह गई।
उन्होंने लिखा, ‘‘आज तक किसी भी सरकारी प्रयास से भारत के किसान संतुष्ट नहीं हुए। मैं स्वयं एक किसान परिवार से हूँ। मेरे दो सगे बड़े भाई आज भी खेती पर आश्रित हैं। मेरा उनसे निरंतर संवाद होता है। मेरी जन्मभूमि के गाँव से मेरा जीवंत सम्पर्क है।’’ उमा ने कहा, ‘‘मेरे बड़े भाई अमृतसिंह लोधी मुझसे हमेशा कहते हैं कि खेत एक अचल सम्पत्ति एवं खेती एक अखण्ड समृद्धि की धारा हैं किन्तु किसान कभी रईस नहीं हो पाता है। मेरे भाई अमृतसिंह लोधी की ज़िंदगी को मैं अपने जन्म से देख रही हूँ। मुझे जो समझ में आया वह यह है कि खाद, बीज और बिजली समय पर मिले तथा अनाज को अपनी मर्जी के मुताबिक बेचने का अधिकार यह खुशहाली का सूत्र हो सकता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी ने कानूनों के वापसी करते समय जो कहा वह मेरे जैसे लोगों को बहुत दुखी कर गया। हम क्यों नहीं किसानों से ठीक से सम्पर्क एवं संवाद कर सके।’’ उमा ने कहा, ‘‘मोदी जी बहुत गहरी सोच एवं समस्या के जड़ को समझने वाले प्रधानमंत्री हैं। जो समस्या की जड़ समझता है, वह समाधान भी पूर्णतः करता है।
उन्होंने कहा, ‘‘कृषि कानूनों के सम्बन्ध में विपक्ष के निरन्तर दुष्प्रचार का सामना हम नहीं कर सके, इसी कारण से उस दिन मोदी के सम्बोधन से मैं बहुत व्यथित हो रही थी।’’ उमा ने कहा, ‘‘मेरे नेता मोदी जी ने तो कानूनों को वापस लेते हुए भी अपनी महानता स्थापित की। हमारे देश का ऐसा अनोखा नेता युग-युग जिये, सफल रहे। यही मैं बाबा विश्वनाथ एवं माँ गंगा से प्रार्थना करती हूँ।’’

 

 

फाइल फोतो 

23 November, 2021

संसद का शीतकालीन सत्र कल से शुरू, सुचारु काम-काज के लिए सर्वदलीय बैठक की गई
सरकार ने सभी दलों से सदन के सुचारू संचालन के लिए सहयोग का भी अनुरोध किया
बीजेपी का बड़ा बयान, कहा- सीरिया बनने की ओर बढ़ रहा है केरल, इस्लामिक आतंकवाद पर कोई कंट्रोल नहीं
सुरेंद्रन ने कहा, ‘राज्य में इस्लामिक आतंकवाद की वृद्धि पर कोई नियंत्रण नहीं है और पूरे राज्य में मांस की हलाल दुकानों की बाढ़ सी आ गई है
कृषि क़ानूनों की वापसी की घोषणा यह हमारी नाकामी है : उमा भारती
आज तक भारत के किसान किसी भी सरकारी प्रयास से संतुष्ट नहीं हुए है ।
राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने महाराष्ट्र् विनोद तावडे को राष्ट्रीय महासचिव, सचिव और प. बंगाल मै प्रवक्ता नियुक्त किये
बीजेपी ने कांग्रेस के पूर्व नेता शहजाद पूनावाला को राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त् किया है।
वीडियो जर्नलिस्ट एसोसियन ने भी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का फूलो का गुलदस्ता देकर धन्यवाद किया