Hindi News Portal
भोपाल

मंत्री सिलावट ने प्रदेश के बालाघाट जिले को मत्स्य-उत्पादन के क्षेत्र में प्रथम स्थान मिलने पर अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई दी

भोपाल : देश मै स्वच्छता मै तो प्रदेश के इन्दौर शहर ने प्रथम स्थान प्राप्त किये अभी कुछ ही दिन बिते है . और प्रदेश के लिये एक और खुशखबरी मिल गई. आज मछुआ कल्याण और मत्स्य पालन मंत्री तुलसी सिलावट के चार ईमली निवास पर मत्स्य विभाग के संचालक भरत सिंग कुशवाह उप संचालक शशीप्रभा और,कर्मचारीयो का मंत्री जी के व्दारा सम्मान किया गया. कारण कि ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में विश्व मत्स्य दिवस पर की मत्स्य विकास के क्षैत्र मै उत्कृष्ट कार्य के लिए मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले को देशभर प्रथम स्थान मिल है । इस सर्वे में देश के 70 जिले शामिल थे. जिसमै में बालाघाट जिले ने प्रथम स्थान प्राप्त किया । इसमै भारत सरकार की तरफ से पुरस्कार स्वरूप 3 लाख रूपये और मोमेंटो प्रदान किया गया
इसके बाद मध्यप्रदेश के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। प्रदेश के बालाघाट जिले को मत्स्य विकास क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए देश में जाना जायगा । संचालक मत्स्योद्योग भरत सिंह, उप संचालक मत्स्योद्योग बालाघाट शशि प्रभा ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।

इस अवसर पर जल संसाधन, मछुआ कल्याण और मत्स्य विकास मंत्री तुलसीराम सिलावट ने इस उपलब्धि पर विभाग के संचालक भरत सिंह सहित सभी अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि ऐसे पुरस्कार से अधिकारी और कर्मचारियों का मनोबल बढ़ता है और विभागीय योजनाओं में अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं।

मंत्री सिलावट ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की इच्छा है कि मध्यप्रदेश सभी क्षेत्रों में अग्रसर हो। मछली पालन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश आत्म-निर्भर बने इसके लिए लगातार नए आयाम की तरफ बढ़ने की कोशिश की जा रही है। बालाघाट से प्रेरणा लेकर प्रदेश के अन्य जिलों में भी मछली पालन के क्षेत्र में नए कीर्तिमान बनेंगे।

संचालक भरत सिंह ने बताया कि आर.ए.एस., बायोफ्लाक, केज एवं महिलाओं तथा बच्चों की आर्थिक उन्नति के लिए उत्कृष्ट कार्य करने के लिए बेस्ट इनलेण्ड स्टेट का पुरूस्कार बालाघाट जिले को मिला है। बालाघाट द्वारा विगत तीन वर्षों में 2 फीड मिल, 23 रिटेल मार्केट, 2 कियोस्क, 10 बायोफ्लाक, 280 टू-व्हीलर्स, 5 थ्री व्हीलर्स, 160 केज कल्चर आदि वितरित/स्थापित कराए गए हैं। पी.एम.एम.एस.वाय योजना में 2288 एवं बचत-सह-राहत योजना में 7292 हितग्राहियों को लाभ पहुँचाया गया है।

 

 

 

 

24 November, 2021

तीसरी लहर नहीं आये इसके लिए सबको वैक्सीन का दूसरा डोज लगाना सबसे बड़ा काम और पहली प्राथमिकता -
कोरोना के नए वेरिएंट के बारे में सावधानी जरूरी है। वैक्सीन के सेकंड डोज लगाने से बड़ा कोई काम नहीं है मुख्यमंत्री ने क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा
मुख्यमंत्री चौहान ने मास्क लगवाने का जन-जागरूकता अभियान सीहोर जिले के सलकनपुर से प्रारंभ किया
मुख्यमंत्री ने फेस मास्क वितरित किए और अपने हाथों से उन लोगों को लगाए, जो इसका उपयोग नहीं कर रहे थे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से अपील कोरोना की तीसरी लहर नहीं आने देने में सहयोग करें –
जिस संकट से हम सेकेण्ड दौर में गुजरे हैं, उसकी तकलीफें हम भूले नहीं हैं। हमको सावधान रहना ही होगा। हमको कोरोना नियंत्रित करने के सारे उपायों को अपनाना होगा।
प्रदेश में 6 नवीन मेडिकल कालेज को केबिनेट की मंजुरी
राज्य शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमेट) को वर्तमान में प्रशासन अकादमी से अलग कर स्वतंत्र इकाई के रूप में स्थापित किया जाएगा
कलेक्टर-एसपी के काम पर निर्भर है जनता को सुशासन देना , अच्छे कार्य का बेहतर असर होता है : सीएम
मुख्यमंत्री चौहान ने कमिश्नर-कलेक्टर्स एवं पुलिस अधीक्षकों की वीडियो कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया