Hindi News Portal
अपराध

कुख्यात गैंगस्टर अबू सलेम को सता रहा जान का खतरा , कोर्ट में अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई

मुंबई,11 जून ; जेल में बंद गैंगस्टर अबू सलेम को अपनी जान का खतरा सता रहा है। उसने मुंबई सेशन कोर्ट में अर्जी दाखिल की है कि उसे तलोजा जेल से किसी दूसरी जेल में शिफ्ट न किया जाए।सलेम की वकील अलीशा पारेख का कहना है, उसने यह अर्जी दाखिल की है क्योंकि उसे लगता है कि उसकी जान को खतरा है। तलोजा जेल ने जवाब देते हुए कहा है कि निचली कोठरी की हालत अच्छी नहीं है और इसे दोबारा बनाने की जरूरत है। उसके लिए कोई अन्य सुरक्षित स्थान नहीं है, इसलिए उसे किसी अन्य जेल में स्थानांतरित किया जाना चाहिए। फिलहाल हमें अंतरिम राहत मिली है। पहले भी सलेम पर दो बार हमला हो चुका है।सलेम को तलोजा जेल में कड़ी सुरक्षा वाले सेल में रखा गया है। खबर मिली है कि जेल अधिकारी इस सेल की मरम्मत करवाना चाहते हैं, इसलिए यहां के कैदियों को दूसरी जेल में शिफ्ट करना चाहते हैं। वहीं सलेम का कहना है कि तलोजा जेल ही उसके लिए सुरक्षित है। दूसरी जेलों में अन्य गिरोह के लोग हैं, जिनसे उसकी जान को खतरा हो सकता है। बता दें कि अबू सलेम को मुंबई 1993 सिलसिलेवार बम धमाकों के सिलसिले में दोषी ठहराया गया था। उसे 2005 में पुर्तगाल से भारत प्रत्यर्पित किया गया था। सलेम को 2015 में मुंबई के एक बिल्डर प्रदीप जैन की हत्या और 2017 में 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

 

11 June, 2024

"गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का पाकिस्तानी डॉन भट्टी को ईद की बधाई देनेवाला वीडियो कॉल वायरल,
वीडियो 16 जून का है।
कुख्यात गैंगस्टर अबू सलेम को सता रहा जान का खतरा , कोर्ट में अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई
सलेम को तलोजा जेल में कड़ी सुरक्षा वाले सेल में रखा गया है।
नाबालिग से जबरन शादी और दुष्कर्म करने के मामले में व्यक्ति को 10 वर्ष कैद की सजा
दोषी की दो नाबालिग बेटियां भी हैं, जो अब 13 और 17 साल की हैं.
दिल्ली की अदालत ने सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 6 जुलाई तक बढ़ाई
30 अप्रैल को सिसोदिया को जमानत देने से इनकार कर दिया था।
सेना के जवान की पत्नी से हैवानियत, बच्चों के सामने गैंगरेप किया
आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए SIT गठित