Hindi News Portal
स्वास्थ

मुर्गियों से नहीं फैलता कोरोना कुक्कुट उत्पादों का सेवन सुरक्षित है।

भोपाल : सोमवार, पशुपालन विभाग ने स्पष्ट किया है कि मुर्गियों से कोरोना फैलने की बात झूठी अफवाह है। पशुपालन विभाग ने स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के आधार पर स्पष्ट किया है कि किसी भी प्रकार के कुक्कुट उत्पादों से कोरोना फैलने की बात पूरी तरह भ्रामक और आधारहीन है तथा कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है।

संचालक पशुपालन डॉ. आर.के. रोकड़े ने बताया कि भारत सरकार के पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय ने भी सभी राज्यों के सचिवों को पत्र के जरिये सूचित किया है कि मुर्गी पालन से मनुष्यों में कोरोना का संक्रमण नहीं होता तथा इनका सेवन न केवल सुरक्षित है बल्कि यह प्रोटीन से भरपूर सस्ता खाद्य पदार्थ है जो मनुष्यों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और कईं बीमारियों के संक्रमण को भी रोकता है।

डॉ. रोकड़े ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने अपने पत्र में कुक्कुट उत्पादों का उपयोग नहीं करने तथा मुर्गी पालन फार्म को शीघ्र बंद करने जैसे कोई दिशा-निर्देश या चेतावनी-पत्र जारी नहीं किया है। उन्होंने कहा कि वायरल खबर में उल्लिखित भोपाल, ग्वालियर, देवास, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, बड़नगर, सीहोर, बड़वानी और महू में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुक्कुट के किसी भी प्रकार के नमूने नहीं लिये गये हैं। उन्होंने कहा कि कुक्कुट उत्पादों का उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है तथा इनसे अभी तक किसी भी प्रकार के कोरोना संक्रमण का कोई संकेत विश्व में कहीं भी नहीं मिला है। संचालक पशुपालन ने साफ किया है कि उपयोगकर्ता अफवाहों से सतर्क रहें। उन्होंने कहा है कि चिकन तथा अंडों का उपयोग पूर्णत: सुरक्षित है।

22 June, 2020

मुंबई ; कोविशील्ड वैक्सीन का “किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल “ में मानव परीक्षण प्रक्रिया शुरू
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा कोविशील्ड वैक्सीन को विकसित किया गया है और भारत में पुणे की सीरम इंस्टिट्यूट इसे तैयार कर रही है.
मुर्गियों से नहीं फैलता कोरोना कुक्कुट उत्पादों का सेवन सुरक्षित है।
चिकन और अंडे मनुष्यों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है
सुल्तानिया अस्पताल में दुर्लभ प्रसव ; डॉक्टरों ने महिला की जान बचाई
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. साधौ ने दी चिकित्सक टीम को बधाई
कोमा मै बच्चे के जन्म देने के दो हफ्तो के बाद कोमा से बाहर आई महिला
कोमा में जाने के बाद में बच्चे का जन्म दें और उसे इस बात का ऐहसास करीब 2 सप्ताह के बाद हो
जारी हुई HIV ग्रस्त लोगों की रिपोर्ट, भारत में चिंताजनक है महिलाओं की स्थिति
भारत में 2017 में अनुमान के मुताबिक 21.4 लाख लोग एचआईवी से ग्रस्त थे जिनमें करीब 40 प्रतिशत महिलाएं थीं.