Hindi News Portal
व्यापार

ग्राहक का बैंक के ड्रॉप बॉक्स में चेक डालना सुरक्षित नही है

नई दिल्ली: अगर किसी को आप चेक की माध्यम से पेमेंट करते है या किसी दिया हुआ पेमेंट चैक को आप बैंकों के ड्रॉप बॉक्स में चेक डालकर आप सम्झते है कि आपका चेक सुरक्षित हो जाते है परंतु यह खतरे की घंटी है क्योंकि अब आपके अकाउंट पेई (Account Payee) चेक भी सुरक्षित नहीं है. हैरान करने वाला ये मामला दिल्ली के करोल बाग इलाके का है जहां निजी बैंक के ड्रॉप बॉक्स से चोरी हुआ चेक भी कैश करा लिया गया. शुरू में पुलिस ने इस मामले को लेकर मुकदमा दर्ज नहीं किया था.
मामला है साल 2016 का ओरिंएटल बैंक का ग्राहक सचिन का है जिसने शिकायत की थी की उसने साल 2016 अप्रैल में एक चेक कैश कराने के लिए ओरिंएटल बैंक (Oriental Bank of Commerce) के ड्रॉप बॉक्स में डाला था. ये चेक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) का अकाउंट पेई था. जिस चेक पर सचिन ने अपना अकाउंट नंबर भी लिखा था. जब कुछ दिन बीतने के बाद भी उसके खाते में पैसा नहीं पहुंचा तब उसे बैंक में बताया गया कि उनके स्टाफ को ड्रॉप बॉक्स में कोई चेक मिला ही नहीं था. इसके बाद सचिन उस दुकान पर गए जिसने उसको चेक दिया गया था. लेकिन उस दुकानदार ने बताया कि उसके खाते से लिखी गई रकम निकल चुकी है.
उसने पुलिस मै कम्पलेंट करने की कोशिश परन्तु उसकी कम्पलेंट नही लिखी गई उसकी वजह से ग्राहक को कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा, जहा उसकी सुनवाई हुई और अब जा कर दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) के आदेश पर पुलिस ने मुकदमा (FIR) दर्ज कर उसकी जांच शुरू की ।

 

 

 

12 August, 2020

ग्राहक का बैंक के ड्रॉप बॉक्स में चेक डालना सुरक्षित नही है
बैंकों के ग्राहक को के चेतावनी की ड्राप बॉक्स में चेक डालना आपके लिये खतनाक हो सकता है क्योंकि अब आपके एकाउंट पेई चेक भी सुरक्षित नहीं है.
आज से पूरे देश में अनलॉक-2 लागू, बैंकों में मिली कई छूट खत्म, यहां जानें बड़े बदलाव
बुधवार से सभी बैंकों के खाताधारकों को एटीएम से कैश ट्रांजेक्शन करने पर किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी. पहले की तरह हर महीने केवल मेट्रो शहरों में आठ और नॉन मेट्रो शहरों में 10 ट्रांजेक्शन ही लोग कर सकेंगे.
पहली बार भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 500 अरब डॉलर के पार
चीन-जापान के बाद भारत का विदेशी मुद्रा भंडार सबसे ज्यादा
चीन को सबक सिखाएगी दुनिया, 'भविष्य की राह' दिखा रहा भारत
कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को अपने शिकंजे में कसा हुआ है. भारत के लिए भी ये चुनौती भरा वक्त है लेकिन इस चुनौती में एक अवसर भी छिपा हुआ है.
कोरोना संकट के बीच IT सेक्टर के लिए आई बुरी खबर, Lockdown लंबा चला तो जा सकती हैं नौकरियां: आर चंद्रशेखर
यदि मौजूदा स्थिति और खराब होती है तो स्टार्टअप्स (Stratups) के लिए दिक्कत आ सकती है. स्टार्टअप कंपनियां उद्यम पूंजीपतियों से मिले कोष से चल रही हैं.