Hindi News Portal
राजनीति

गलत भवनाओं के प्रवेश को रोकना होगा तभी हमारा संविधान बचेगा: सोनिया गांधी

छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के शिलान्यास समारोह के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए बोलते हुए कहा, "हमें याद रखना होगा कि हमारा संविधान इन भवनों से नहीं भावनाओं से बचा रहेगा। इन भवनों से दूषित और गलत भवनाओं के प्रवेश को रोकना होगा तभी हमारा संविधान बचेगा।"
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को कहा कि देश में कुछ ताकतें लोगों को लड़ाकर नफरत का जहर घोल रही हैं। उन्होंने कहा कि इस समय देश में अभिव्यक्ति का अधिकार खतरे में है और वे ताकतें देश के कई वर्गों का मुंह बंद रखना चाहती हैं। सोनिया गांधी, ने कहा कि हमारे पूर्वज गांधी, नेहरू या आंबेडकर ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि आजादी के 75 साल बात देश में ऐसे हालत पैदा हो जाएंगे कि संविधान और लोकतंत्र खतरे में पड़ जाएगा।

रिपोर्ट के मुताबिक, सोनिया ने कहा, ‘कुछ ताकतें जो चाहती हैं कि लोग आपस में लड़ते रहें, देश में नफरत का जहर घोल रही हैं। देश में अभिव्यक्ति का अधिकार खतरे में है, लोकतंत्र को नष्ट किया जा रहा है। वे चाहते हैं कि दलित, आदिवासी, महिला और युवा अपना मुंह बंद रखें। वे देश का मुंह बंद रखना चाहते हैं।

 

 

29 August, 2020
Share |

'कोरोना की दवा मिल जाएगी, लेकिन कांग्रेस को ढंग का अध्यक्ष नहीं मिलेगा' BJP ने ली चुटकी
भारतीय जनता पार्टी (BJP) की मध्य प्रदेश इकाई ने कांग्रेस के अध्यद पद को लेकर चुटकी ली है।
कांग्रेस मै अध्यक्ष को लेकर चलरहे घमासान मै किसी ने कहा देशद्रोही बताया किसी ने जल्द न करने की सलाह दी
कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही भाजपा पर संविधान का पालन नहीं करने और लोकतंत्र की नींव को नष्ट करने का आरोप लगाती रही है
सिंधिया ने भ्रष्टाचारी कांग्रेस सरकार को सड़क पर ला दिया इसीलिए कांग्रेस की आखों की किरकिरी बने हैं : विष्णु दत्त शर्मा
कांग्रेस और कमलनाथ जी प्रदेश की जनता से कुछ भी कहें, लेकिन वह जानती है
गलत भवनाओं के प्रवेश को रोकना होगा तभी हमारा संविधान बचेगा: सोनिया गांधी
देश में अभिव्यक्ति का अधिकार खतरे में है, लोकतंत्र को नष्ट किया जा रहा है
चीन को दिया गया आंख मिलाकर जवाब, दूर होगी 'ड्रैगन' की हेकड़ी: वरुण गांधी
भाजपा नेता वरुण गांधी ने कहा है कि भारत एकमात्र देश है जो सीमा पर अपने सैनिकों की ताकत के दम पर चीन से नजरें मिलाकर देख सका है. और अब चीन को अपने शक्तिशाली पड़ोसी को उकसाने की रणनीतिक भूल का अहसास होगा.