Hindi News Portal
राज्य

असम की कोर्ट ने वीजा उल्लंघन मामले में 25 बांग्लादेशियों की रिहाई के आदेश दिए

ढाका: भारत के असम राज्य की एक अदालत ने उन 25 बांग्लादेशी नागरिकों को रिहा करने का आदेश दिया है, जो वीजा शर्तो के उल्लंघन के आरोप में मई से जेल में बंद हैं। 'बांग्लादेश-इंडिया बॉर्डर विक्टिम रेस्क्यू कमेटी' के संयोजक अब्राहम लिंगकोन ने कहा कि इस मामले में प्रगति बांग्लादेश के एक अनुरोध के बाद देखने को मिला है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, टूरिस्ट वीजा पर भारत आए इन बांग्लादेशी नागरिकों को उस समय गिरफ्तार किया गया था जब वे बांग्लादेश में घुसने की कोशिश कर रहे थे।

3 मई को पुलिस ने किया था गिरफ्तार
लिंगकोन ने गुवाहाटी में बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्त तनवीर मंसूर के हवाले से कहा कि धुबरी की एक कोर्ट ने शनिवार को 25 बांग्लादेशी नागरिकों के खिलाफ लगे आरोप हटा दिए और उन्हें रिहा करने का आदेश दिया। कुरीग्राम की चिलमारी उपजिला के रहने वाले ये नागरिक टूरिस्ट वीजा पर भारत गए थे, लेकिन मछुआरों और कृषि श्रमिकों के रूप में काम कर रहे थे। भारतीय पुलिस ने 3 मई को धुबरी से 26 बांग्लादेशी नागरिकों को उस समय गिरफ्तार किया था, जब वे अपने घर जा रहे थे। उनका इरादा चंग्रबंधा पोस्ट के जरिए बांग्लादेश में घुसने का था।

जुलाई में हुई एक बांग्लादेशी की मौत
पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया और आरोप लगाया कि उन्होंने वीजा की शर्तों का उल्लंघन किया है, क्योंकि उनका वीजा उन्हें काम करने की अनुमति नहीं देता है। तब से, वे जेल में हैं, और उनमें से एक की 1 जुलाई को मौत भी हो गई। इस बीच, बांग्लादेश के अधिकारियों ने उन्हें घर लाने की पहल की और भारत से उन्हें रिहा करने का अनुरोध किया। अनुरोध के जवाब में भारतीय अधिकारियों ने 25 बांग्लादेशियों के खिलाफ मामला वापस लेने का फैसला किया।

 

 

सौजन्य इंडिया टीवी

 

 

01 September, 2020
Share |

UP में देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनेगी, मुख्यमंत्री योगी की घोषाणा
मेरठ व गाजियाबाद को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने की योजना को शीघ्रता से प्रारंभ किया जाए
तेलंगाना: कांग्रेस ने चुनाव की तैयारियों के लिए बुलाई थी मीटिंग, शुरू हो गई हाथापाई
हैदराबाद में ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव की तैयारियों को लेकर चल रही मीटिंग के दौरान कांग्रेस के दो गुटों के बीच जमकर हाथापाई हुई।
असम की कोर्ट ने वीजा उल्लंघन मामले में 25 बांग्लादेशियों की रिहाई के आदेश दिए
भारत के असम राज्य की एक अदालत ने उन 25 बांग्लादेशी नागरिकों को रिहा करने का आदेश दिया है, जो वीजा शर्तो के उल्लंघन के आरोप में मई से जेल में बंद हैं।
बसपा प्रमुख मायावती ने बोला योगी आदित्यनाथ सरकार पर बड़ा हमला
मायावती ने कहा कि प्रदेश में अब न तो किसी को कानून का डर है और न ही कानून का राज है। प्रदेश में बढ़ते अपराध से यहां की आम जनता परेशान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के गैंगस्टर व एनएसए के तहत कार्रवाई किए जाने के बाद भी अपराध और अपराधी नियंत्रण में नहीं हैं।
सुशांत सिह केस की जांच कर रहै विनय तिवारी पटना एसपी का मुंबई मै क्वारंटीन समाप्त
सुशांत आत्महत्या मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे थे, तब उन्हे जबरन उन्का क्वारंटीन कर दिया गया था