Hindi News Portal
स्वास्थ

मुंबई ; कोविशील्ड वैक्सीन का “किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल “ में मानव परीक्षण प्रक्रिया शुरू

भारत मै कोरोना महामारी के बीच एक बार फिर से सुखद खबर है कि मुंबई के किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल (KEMH) में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड का मानव परीक्षण की प्रक्रिया शुरु हो गई है . अस्पताल के डीन हेमंत देशमुख ने कहा कि शनिवार को तीन लोगों पर वैक्सीन का मानव परीक्षण किया जाएगा. वैक्सीन के मानव परीक्षण की प्रक्रिया शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि हम अब तक 13 लोगों की स्क्रीनिंग कर चुके हैं. इनमें से 10 लोगों की स्क्रीनिंग शुक्रवार को पूरी की.

पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ने ब्रिटिश स्वीडिश फार्मा कंपनी AstraZeneca के साथ कोविड-19 वैक्सीन कैंडिडेट की मैन्युफैक्चरिंग के लिए समझौता किया है, जिसे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने विकसित किया है. वैक्सीन के पहले शॉट को शनिवार को विकसित किया जाएगा.


उन्होंने कहा कि मानक परीक्षण प्रक्रिया के हिस्से के रूप में एक अन्य व्यक्ति को प्लेसीबो मिलेगा. केईएम मुंबई का पहला अस्पताल है जहां सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित किए जा रहे टीके का मानव परीक्षण होगा ।
वहीं पीजीआई चंडीगढ़ में इस वैक्सीन के अंतिम चरण के ट्रायल की प्रक्रिया शुरू हो गई है. बता दें कि देश में इस वैक्सीन के ट्रायल के लिए 17 संस्थानों का चयन किया गया है. पीजीआई, चंडीगढ़ भी इसमें शामिल है.

डाटा सेफ्टी एंड मॉनिटरिंग बोर्ड नई दिल्ली से अप्रूवल मिलने के बाद पीजीआई चंडीगढ़ में बुधवार से तीसरे यानी अंतिम चरण के ह्यूमन ट्रायल की प्रक्रिया शुरू हुई है. बता दें कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा कोविशील्ड वैक्सीन को विकसित किया गया है और भारत में पुणे की सीरम इंस्टिट्यूट इसे तैयार कर रही है.

 

26 September, 2020

मुंबई ; कोविशील्ड वैक्सीन का “किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल “ में मानव परीक्षण प्रक्रिया शुरू
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा कोविशील्ड वैक्सीन को विकसित किया गया है और भारत में पुणे की सीरम इंस्टिट्यूट इसे तैयार कर रही है.
मुर्गियों से नहीं फैलता कोरोना कुक्कुट उत्पादों का सेवन सुरक्षित है।
चिकन और अंडे मनुष्यों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है
सुल्तानिया अस्पताल में दुर्लभ प्रसव ; डॉक्टरों ने महिला की जान बचाई
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. साधौ ने दी चिकित्सक टीम को बधाई
कोमा मै बच्चे के जन्म देने के दो हफ्तो के बाद कोमा से बाहर आई महिला
कोमा में जाने के बाद में बच्चे का जन्म दें और उसे इस बात का ऐहसास करीब 2 सप्ताह के बाद हो
जारी हुई HIV ग्रस्त लोगों की रिपोर्ट, भारत में चिंताजनक है महिलाओं की स्थिति
भारत में 2017 में अनुमान के मुताबिक 21.4 लाख लोग एचआईवी से ग्रस्त थे जिनमें करीब 40 प्रतिशत महिलाएं थीं.