Hindi News Portal
भोपाल

जिला प्रशासन की झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई , 42 दुकानें सील की गई

भोपाल : कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर भोपाल में राजस्व अधिकारियों एसडीएम, तहसीलदार और जिला स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा तथाकथित डॉक्टरों के विरुद्ध व्यापक जांच अभियान चलाया गया और सभी ऐसी इलाज करने वाली संदिग्ध दुकानों को चेक किया गया। जिसमें पाया गया कि कई ऐसे डॉक्टर जो बिना किसी भी डिग्री लेकर बैठे हैं और एलोपैथी से इलाज कर रहे हैं इसके साथ ही कुछ ऐसे भी हैं जिनके द्वारा बिना डिग्री लिए भी दुकानों का संचालन किया गया।
इसके साथ ही दुकानों के संचालन की नियमानुसार भी परमिशन नहीं ली गई थी डॉक्टर की दुकान चलाने के लिए स्वास्थ विभाग की अनुमति की आवश्यकता होती है इस प्रकार की कोई अनुमति नहीं ली गई थी।
अपर कलेक्टर आशीष वशिष्ठ ने बताया कि राजस्व अधिकारी और स्वास्थ विभाग के अमले द्वारा संयुक्त अभियान में जिले में 42 से अधिक ऐसी डाक्टरी की दुकानें सील कर दी गई और साथ ही संबंधित इलाज करने वाले डॉक्टरों को नोटिस जारी कर संबंधित कागजात पेश करने के निर्देश भी दिए गए अन्यथा उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही एसडीएम और तहसीलदार को निर्देश जारी किए गए की जिले में लोगो के स्वास्थ्य के साथ लापरवाही नहीं होने दी जाए और मुख्य चिकित्सा स्वास्थ अधिकारी को कहा कि स्वास्थ्य विभाग लगातार कार्रवाई की और सम्बन्धित व्यक्ति जिसे इलाज करने की अनुमति है उसे ही अनुमति दी जाए।

 

13 October, 2020

आपातकाल में होमगार्ड सैनिकों की सेवाएं सराहनीय,बिना कुछ लिये सेवाएँ देना बहुत बड़ा त्याग है : मंत्री डॉ. मिश्रा
अन्तर्राष्ट्रीय आपदा जोखिम न्यूनीकरण दिवस पर सैनिक/वॉलेंटियर्स सम्मेलन आयोजित गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने होमगार्ड के नवीन भवनों का किया लोकार्पण
जिला प्रशासन की झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई , 42 दुकानें सील की गई
डॉक्टर की दुकान चलाने के लिए स्वास्थ विभाग की अनुमति की आवश्यकता होती है
कोविड-19 को ध्याआन में रखते हुए स्टारर प्रचारकों के संबंध में आयोग के निर्देश
आयोग द्वारा मान्य ता प्राप्तन राष्ट्री्य एवं राज्यो स्तंरीय राजनैतिक दलों के लिये स्टा र प्रचारकों की संख्यार 40 से घटाकर........
सड़कों के जाल से हो रही विकास की राह आसान : मुख्यमंत्री
मनरेगा और प्रधानमंत्री सड़क योजना में निर्मित सड़कों का हुआ वर्चुअल लोकार्पण
प्रदेश मै गृह विभाग ने धार्मिक त्यौहारों सम्बन्धी दिशा निर्देश जारी किए
रामलीला तथा रावण दहन के कार्यक्रम खुले मैदान में फेस मास्क तथा सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त पर आयोजन समिति द्वारा कलेक्टर की पूर्व अनुमति प्राप्त कर आयोजित किए जा सकेंगे