Hindi News Portal
राजनीति

कांग्रेस को धूल चटाने के मेरे प्रस्ताव पर मोहर लगाएं, कमल का बटन दबाएं: ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल। हां, मैंने कांग्रेस की सरकार गिराई है, क्योंकि उस सरकार ने जनता से, आप सभी से गद्दारी की थी। कमलनाथ और दिग्विजयसिंह ने जनता से गद्दारी की है और मेरी लड़ाई इन गद्दारों के खिलाफ है। मैंने कांग्रेस सरकार को धूल चटाकर एक प्रस्ताव जनता की संसद में रखा है। अब आपको मेरे इस प्रस्ताव पर मोहर लगाना है, इसके लिए तीन तारीख को कमल का बटन दबाना है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को दिमनी, मेहगांव, अंबाह और गोहद विधानसभाओं में आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए कही।
सिंधिया ने कहा कि 2018 में कांग्रेस की सरकार ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के बलबूते पर बनी थी। क्षेत्र की जनता ने भरपूर साथ दिया था। 70 साल के इतिहास में पहली बार कांग्रेस को इस क्षेत्र में 18 से ज्यादा सीटें मिली थी। आपने 34 में से 26 सीटें कांग्रेस को दी थीं। यदि तीन चार सीटें भी कम होतीं, तो कमलनाथ मुख्यमंत्री नहीं होते। फिर शिवराजसिंह चौहान जी प्रदेश के मुख्यमंत्री होते। लेकिन कांग्रेस की उस सरकार ने ग्वालियर-चंबल क्षेत्र का अपमान किया, इस चंबल की माटी का अपमान किया। इस अपमान का बदला चंबल की जनता तीन नवम्बर को लेगी।
सिंधिया ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार बनी, तो हम सभी की अभिलाषा थी, कि क्षेत्र में प्रगति और विकास आएगा और यह सरकार विकास की जो लकीर शिवराज सरकार ने खींची थी, उससे भी लंबी लकीर खींचेगी। लेकिन कांग्रेस की सरकार आते ही कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी ने भ्रष्टाचार की लकीर खींच दी। लोकतंत्र के मंदिर वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया। हमने सोचा था कि कमलनाथ उद्योगपति हैं, उद्योग लाएंगे। लेकिन इन्होंने तबादला उद्योग शुरू कर दिया। बोलियां लगने लगीं, एक-एक अधिकारी के 4-4 ट्रांसफर होने लगे।
सिंधिया ने कहा कि हमारा अन्नदाता देश और प्रदेश ही नहीं, बल्कि सारी दुनिया का पेट भरता है। उन्होंने कहा कि जो भी सरकार हमारे अन्नदाताओं से गद्दारी करेगी, उसे धूल चटाने का काम सिंधिया परिवार करता रहेगा ।
सिंधिया ने कहा कि इस चुनाव में एक तरफ कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की वही जोड़ी है, जिसने पूरे प्रदेश के साथ गद्दारी की। दूसरी तरफ शिवराजसिंह जी के नेतृत्व में कमल की, कमाल की सरकार है। शिवराज जी ने मुख्यमंत्री बनते ही वो लॉक तोड़ दिया, जो कमलनाथ-दिग्विजयसिंह की जोड़ी ने प्रदेश के विकास पर लगाया था। क्षेत्र के विकास के लिए हम सब साथ हैं
सिंधिया ने कहा कि 2018 के चुनाव में मैं और शिवराज जी आमने-सामने थे। हमारे बीच प्रतिस्पर्धा थी, लेकिन वह विकास, प्रगति और जनता की सेवा के लिए प्रतिस्पर्धा थी। अब हम दोनों साथ हैं, एक हैं और क्षेत्र के विकास के लिए, प्रदेश के विकास के लिए संकल्पित हैं। मेरे दिल में एक ही तमन्ना है कि ग्वालियर चम्बल की जनता के दिल में छोटा सा स्थान मिल जाए। तो मैं अपने आप को सफल मानूंगा।

 

23 October, 2020

हार के बाद पहली बार बोले तेजस्वी, कहा- बिहार का फैसला हमारे पक्ष में है
प्रेस वार्ता में तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार में अगर नैतिकता है तो कुर्सी छोड़ दें। बिहार का फैसला हमारे पक्ष में है।
बिहार का अगला मुख्यमंत्री का सस्पेंस पीएम मोदी ने समाप्त किया
बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा की सीट जदयू से ज्यादा सीटें आने के बाद भी मुख्यमंत्री पद को लेकर राजनैतिक गलियारो मै चर्चा गर्म थी की कोन होगा अगला मुख्यमंत्री ?
महबूबा मुफ्ती के बदले सुर, बोलीं-जम्मू-कश्मीर का झंडा और तिरंगा एक साथ उठाऊंगी
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के तिरंगा न उठाने के बयान को लेकर राज्य में बीते दिनों जमकर बवाल मचा था जिसे देखते हुए उन्होंने अपने बयान में बदलाव किया है।
दशहरा रैली में उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरा हिंदुत्व बाला साहेब के हिंदुत्व से अलग है
आपका हिंदुत्व घंटी और बर्तन बजाने से संबंधित है, हमारा हिंदुत्व वैसा नहीं है।
कांग्रेस को धूल चटाने के मेरे प्रस्ताव पर मोहर लगाएं, कमल का बटन दबाएं: ज्योतिरादित्य सिंधिया
दिमनी, अंबाह, मेहगांव, गोहद की सभाओं में वरिष्ठ नेता ने कहा- मेरी लड़ाई जनता के गद्दारों से