Hindi News Portal
स्वास्थ

तरबूज खाएं ही नहीं, चेहरे पर लगाएं भी... ऐसे करेंगे यूज तो कुछ ही दिन में स्किन करने लगेगी ग्लो

गर्मी के दिनों में त्वचा का ख्याल रखना काफी जरूरी हो जाता है क्यों कि जब आपका शरीर डिहाइड्रेट होता है तब इसका सीधा असर चेहरे पर नजर आता है. स्किन डल होने के साथ काली पड़ जाती है ।
तरबूज का इस्तेमाल करके गर्मियों में होने वाली त्वचा से जुड़ी परेशानियों को दूर कर सकते हैं. तरबूज में फाइबर, पोटेशियम, आयरन, विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन ए, जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. ये फल त्वचा के लिए एंटी ऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं.।इन गुणों की वजह से स्किन इंफेक्शन ठीक हो जाता है. त्वचा हाइड्रेट होती है. जलन-सूजन की समस्या दूर होती है. त्वचा पर निखार आता है.आप तरबूज से बने फेस पैक को त्वचा पर अप्लाई करके सारी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं.तरबूज और दूध का फेस पैक*तरबूज के पल्प को निकाल लीजिए.। अब इस पल्प में 2 चम्मच दूध मिलाएं.
इसका एकअच्छा सा पेस्ट तैयार कर लीजिए.। अब इसे पूरे चेहरे पर 20 मिनट तक लगाकर रखें, इसके बाद चेहरे को साफ कर ले.
दूध त्वचा के लिए प्राकृतिक क्लींजर की तरह काम करेगा.,तरबूज चिलचिलाती गर्मी में त्वचा को हाइड्रेट रखने और ठंडक पहुंचाने में मदद करेगा
.ये फेस पैक त्वचा में कसाव लाएगा और आपको जवां बनाने में मदद करेगा.तरबूज और नींबू का फेस पैक*तरबूज का पल्प निकाल लीजिए.
इसमें नींबू का रस मिलाकर इसका एक अच्छा सा मिश्रण बना लीजिए.*
अब इसे त्वचा पर 15 से 20 मिनट लगा रहने दीजिए.*
इसके बाद त्वचा को साफ पानी से धो लीजिए.*
इस फेस पैक से त्वचा की डेड सेल को एक्सफोलिएट करने में मदद मिलेगी.तरबूज और दही का फेस पैक. इस फेस पैक को बनाने के लिए दो चम्मच दही में एक चम्मच तरबूज का रस मिलाएं.
इस पेस्ट को चेहरे पर15 से 20 तक लगाएं.
अब त्वचा को सादे पानी से साफ कर ले.*गर्मी में सन डैमेज के कारण त्वचा मुरझा जाती है, इस फेस पैक को लगाने से त्वचा पर निखार आएगा.
ड्राई स्किन और रैशेज की समस्या दूर होगी

11 May, 2023

मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने आरडी गार्डी अस्पताल में उज्जैन कैंसर सेंटर का लोकार्पण किया
विश्वस्तरीय उपचार सुविधाएं मिलेंगी
याददाश्त बढ़ाने और मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में मददगार हैं ये 5 जड़ी बूटियां
याददाश्त को बढ़ाने और मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में मदद कर सकती हैं।
पत्नी ने ब्रेन डेड पति के अंगदान की स्वीकृति दी, तीन लोगों को मिलेगा नया जीवन
किडनी और लिवर डोनेट किए गए!
मानवता फिर शर्मसार हुई , शव वाहन नहीं मिलने पर 15 किलोमीटर दूर गांव तक् बाइक से ले गये शव को
मामला शहडोल जिला अस्पताल का है
एम्स मै गर्भ के अन्दर पल रहे बच्चों की बीमारियों का पता कर साथ माता पिता का भी इलाज होगा
एम्स में इसकी सुविधा शुरू होने के बाद शहर के लोगों को यहीं पर वह सुविधा उपलब्ध होगी ।