Hindi News Portal
धर्म
भोपाल में भी इस को देखने के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी जिसेको हजारो लोगो ने देखा
ज्योतिर्विद् मदन गुप्ता सपाटू का कहना है कि भारत में कोरोना तीसरे स्टेज में नहीं जाएगा. कोरोना की विदाई जुलाई से शुरू हो जाएगी लेकिन ये नवंबर तक खत्म हो पाएगा.
9 मार्च 2020 को होलिका दहन होगा और 10 मार्च 2020 को रंग खेला जाएगा.
क्या आपने अंडे के जरिए देवी की पूजा होते देखी है? लेकिन हैरान करने वाली बात है कि कोलकाता में इस तरह से पूजा की जाती है. इस मंदिर का नाम है ट्वेल घोस्ट टेंपल.
साईं बाबा के जन्मस्थान को लेकर छिड़े विवाद के बाद शिरडी में रविवार को बुलाया गया एक दिन का बंद मध्यरात्रि के बाद वापस ले लिया जाएगा।
सनातन धर्मं के अनुसार मकर संक्रांति हिंदुओं के प्रमुख त्यौहारों है. वैसे तो 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाती है लेकिन इस बार ज्योतिषीय गणना के अनुसार यह 15 जनवरी को मनाया जाएगा.
पैंट, शर्ट, जीन्स पहने लोग दूर से ही दर्शन कर सकेंगे. नया ड्रेस कोड जल्द लागू किया जाएगा.
साल का पहला चंद्र ग्रहण 10 जनवरी को लगने जा रहा है. यह चंद्र ग्रहण शुक्रवार, 10 जनवरी की रात 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होकर रात के 2 बजकर 42 मिनट तक चलेगा.
२०२० में पड़ने वाले वैदिक ज्योतिष कैलेंडर के अनुसार त्योहार और व्रत की क्या है तारीख जाने
धनतेरस 2019 पर कुबेर देवता तो दिवाली पर मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है. माना जाता है मां लक्ष्मी और देव कुबेर के प्रसन्न होने पर व्यक्ति को कभी भी धन का संकट नहीं होता. इस बार धनतेरस 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा.
इन सभी शुभ योगों में मां की आराधना करना विशेष फलदायी रहेगा. हस्तनक्षत्र योग सन् 1949 के 70 साल बाद अब पड़ रहा है और अतः शक्ति आराधना हेतु इस काल खण्ड को नवरात्र शब्द से सम्बोधित क्यों किया गया है
भाद्रपद पूर्णिमा से आश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक के सोलह दिनों को पितृपक्ष कहते हैं. इस दौरान जिस तिथि में पूर्वजों या परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होती है, उसी तिथि को पितृपक्ष में उनका श्राद्ध किया जाता है.
ऋषि पंचमी का व्रत भाद्रपद शुक्ल पक्ष की पंचमी को किया जाता है।
शास्त्रों के अनुसार , जिस देव की हम उपासना करें , उनके तुल्य होना होता है , तभी वह अपने ऊपर कृपा करते है।
रक्षाबंधन के दिन भद्रा काल नहीं है और न ही किसी तरह का कोई ग्रहण है. यही वजह है कि इस बार रक्षाबंधन शुभ संयोग वाला और सौभाग्य शाली है.
16 किमी की पैदल पहाड़ी यात्रा पूरी कर लौटने में भक्तों को दो दिन लगते हैं. नागद्वारी मंदिर की गुफा करीब 35 फीट लंबी है.
सावन के पहले सोमवार को विधिवत और शुभ समय पर बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित किया जाए तो भक्तों को धन-धान्य का आशीर्वात देते हैं.
क्या है इसका महत्व और कैसे कर इसकी पूजा आर्चना और पारद शिवलिंग के लिए किसी प्राण प्रतिष्ठा की आवश्यकता नहीं है ..
वेद पुराणों गुरु को ब्रहमा, विष्णु महेश के सामान माना गया है क्युकी वह जीवन में सही रास्ता दिखाता है
आध्यात्मिक शक्ति ही विश्व में भारत की पहचान - मुख्यमंत्री कमल नाथ
गंगा दशहरा के बाद ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी है। जिसे पांडव एकादशी (निर्जला एकादशी ) के नाम से भी जाना जाता है।
शास्त्रों में देवी ब्रह्मचारिणी को हिमालय की पुत्री बताया गया है और हजारों वर्षों तक तपस्या करने पर ही इनका नाम ब्रह्मचारिणी पड़ा.
होली के रंगों को खास मनाने के लिए होलिका दहन का अपना महत्व होता है. होली की बची हुई अग्नि और ठंडी भस्म को लोग इसे अपने घर पर ले जाते हैं जिससे घर की सभी नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है
शिवपुराण के अनुसार, जानिए भगवान शिव को कौन सा रस (द्रव्य) चढ़ाने से क्या फल मिलता है-
अब तक श्री शिरडी साईबाबा संस्थान ऐप सें सिर्फ साईबाबा की ऑनलाईन दर्शन कि सेवा उपलब्ध थी. अब साई दर्शन और साई आरती का टिकट की बुकिंग की सेवा भक्तों के लिए शुरू हो गयी है.
कभी पूजा पाठ और कर्मकांड को ब्राह्मणों का आधिपत्य माना जाता था लेकिन महाराष्ट्र में पिछले 18 साल से गैर-ब्राह्मण महिला पुजारियों को कर्मकांड कराने की शिक्षा दी जा रही है.
11 अगस्त को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। आपको बता दें कि यह साल का 3 सूर्य ग्रहण होगा। इस ग्रहण की अवधि 3 घंटे 28 मिनट तक रहेगी। इसे पहले 13 जुलाई और 15 फरवरी 2018 को दो सूर्य ग्रहण पड़ चुके हैं।
💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮 स्त्रीणां द्विगुण आहारो लज्जा चापि चतुर्गणा । साहसं षड्गुणं चैव कामश्चाष्टगुणः स्मृत ।। ।।चा o नी o।। महिलाओं में पुरुषों कि अपेक्षा: भूख दो गुना, लज्जा चार गुना, साहस छः गुना, और काम आठ गुना होती है।
हिंदू पंचांग के अनुसार सावन हिंदू वर्ष का पांचवा महीना है और शिव भक्ति का ही विशेष काल है.
विशेष - षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
हनुमान जी की जयंती अक्सर अप्रैल में मनाई जाती है, लेकिन इस बार मार्च में मनाई जाएगी.
रवीश कुमार ने ट्वीट किया “ दुबई-अबू धाबी राजमार्ग पर बनने वाला यह अबू धाबी का पहला पत्थर से निर्मित मंदिर होगा.”
हिंदू धर्म के मुताबिक पर्व और त्योहार चंद्र पंचाग यानी चंद्रमा की गति पर निर्धारित करती है। मकर संक्रांति हमेशा को लेकर हमेशा से एक अपवाद की तरह रहा है। आपको बता दें कि मकर संक्रांति पर्व का निर्धारण सूर्य की गति के अनुसार रहा है। इसी कारण से संक्रांति
मध्यप्रदेश के उज्जैन के चक्रतीर्थ श्मशान घाट पर एक विशेष तांत्रिक अनुष्ठान हुआ. अमावस्या की रात भगवान भैरवनाथ मंदिर पर तांत्रिक बम-बमनाथ ने शराब से महायज्ञ किया.
उज्जैन के मशहूर महाकाल मंदिर में अब जलाभिषेक आरओ के पानी से होगा। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने आज आदेश जारी किया है। अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जलाभिषेक के लिए आरओ का आधा लीटर पानी ही इस्तेमाल...
🚦 दिशाशूल :- पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।
सूर्य की आराधना से छठ पर्व शुरू हो गया है। चार दिन तक यह पर्व चलेगा है। बुधवार को खरना मनाया गया। महिलाओं ने शाम तक निर्जला व्रत रखा।
बिहार-झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोकपर्व छठ या सूर्यषष्ठीक पूजा का फैलाव देश-विदेश के उन भागों में भी हो गया है, जहां इस इलाके के लोग जाकर बस गए हैं. इसके बावजूद, देश की बहुत बड़ी आबादी इस पूजा की मौलिक बातों से अनजान है. इतना ही नहीं, जिन लोगों के घर में यह व्रत होता है, उनके मन में भी इसे लेकर कई सवाल उठते हैं. आगे इस पूजा से जुड़ी प्रामाणिक और सटीक जानकारी सवाल-जवाब के रूप में दी गई है.
दीपावली के दिन इन उपायों में से कोई एक उपाय करने से आपको धन, ज्ञान-बुद्धि की प्राप्ति होगी। जानिए इस दिन कौन से उपाय अपनाने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है। और अपनी कृपा आपके ऊपर बरसाती है।
दक्षिणदिशा - यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।
डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम को बलात्कार के एक मामले में हाल ही में दोषी करार देने और जेल भेजे जाने की घटना के बाद हिंदू धर्म के नेताओं की शीर्ष संस्था को यह कदम उठाना पड़ा.
राम रहीम, आसाराम और राधे मां जैसे कई कथित धर्मगुरुओं के नाम इसमें शामिल
दैनिक शुभाशुभ: 11.07.17 मंगलवार चंद्र मकर राशि व श्रवण नक्षत्र, भाग्यांक 1, शुभरंग लाल, शुभदिशा पूर्व, राहुकाल शाम 3 से शाम 4:30 तक।
गुरु पूर्णिमा यानी गुरु की आराधना और गुरु-शिष्य परंपरा को समझने का दिन। गुरु-पूर्णिमा के पावन अवसर पर हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान परशुराम के जन्मस्थल जानापाव के बारे में।
कश्मीर में हर साल 40 दिन चलने वाली अमरनाथ यात्रा का पहला जत्था जायगा जिसको जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह हरी झांडी दिखा कर इसका शुम्भारंभ करगे |
दैनिक शुभाशुभ: 16.06.17 शुक्रवार, चंद्र कुंभ राशि व शतभीषा नक्षत्र, भाग्यांक 9, शुभरंग नारंगी, शुभदिशा दक्षिण,दिशाशुल पश्चिम दिशा , राहुकाल प्रातः 10:30 से दिन 12.21 तक।
दैनिक शुभाशुभ: 14.06.17 बुधवार, चंद्र मकर राशि व श्रावण नक्षत्र, भाग्यांक 6, शुभरंग गुलाबी, शुभदिशा दक्षिणपूर्व, राहुकाल दिन 12 से दिन 1:30 तक।
औसतन 50,000 से 70,000 के करीब श्रद्धालु प्रतिदिन मंदिर में दर्शन करने आते हैं। उनके चलने से बिजली बनेगी
बुधवार उपाय: सभी 12 राशियों के व्यक्ति सफलता के लिए दुर्गा मंदिर में मशरूम चढ़ाएं।
राहुकाल ; 7.16 से 08.56 तक दिशा शुल पूर्व दिशा । यदि आवश्यक होतो दर्पण देखकर यात्रा पांरभ करे