Hindi News Portal
व्यापार

इत्र कारोबारी के साथ व्यापार में शामिल ट्रांसपोर्टर व पान मसाला सप्लायर समेत कई और पर शिकंजा कसेगा

कानपुर 07 मई इत्र कारोबारी पीयूष जैन के साथ व्यापार में शामिल ट्रांसपोर्टर व पान मसाला सप्लायर समेत कई और लोगों की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं। डीजीजीआई की ओर से पीयूष की तीन फर्मों समेत छह फर्म व उसके आठ निदेशक व साझेदारों को नोटिस जारी किया गया है।
जल्द ही इनके खिलाफ भी चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की जा सकती है। पीयूष की तीनों फर्मों पर लगभग 497 करोड़ रुपये जीएसटी की देनदारी निकाली गई है। इस बात का खुलासा डीजीजीआई के विशेष लोक अभियोजक अम्बरीष टंडन ने किया।
अम्बरीष ने बताया कि मेसर्स ओडोचैम इंडस्ट्रीज, मेसर्स फ्लोरा नेचुरले, मेसर्स ओडोसेंथ आईएनसी व उसके साझेदार पीयूष कुमार जैन, अम्बरीष कुमार जैन, महेश चंद्र जैन, मेसर्स त्रिमूर्ति फ्रेग्रेंस प्रा.लि. व उसके निदेशक दीपक अग्रवाल को नोटिस जारी किया गया है।
290 करोड़ रुपये और चुकाने पड़ेंगे
इसके अलावा, मैनेजर शैलेंद्र मित्तल, मेसर्स गणपति रोड कैरियर्स प्रा.लि. व उसके निदेशक प्रवीण कुमार जैन, रजत जैन, मेसर्स एस. कुशलचंद इंटरनेशनल प्रा.लि. व उसके निदेशक सुनील ए.हिरानी को भी नोटिस भेजा गया है। इनके खिलाफ विवेचना लगभग पूरी हो गई है। जल्द ही इनके खिलाफ भी मुकदमा चलाने के लिए कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। डीजीजीआई ने 497 करोड़ की देनदारी निकाली है। लगभग 207 करोड़ रुपये सीज किया जा चुका है। इस लिहाज से पीयूष को लगभग 290 करोड़ रुपये और चुकाने पड़ सकते हैं।
कानपुर 07 मई इत्र कारोबारी पीयूष जैन के साथ व्यापार में शामिल ट्रांसपोर्टर व पान मसाला सप्लायर समेत कई और लोगों की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं। डीजीजीआई की ओर से पीयूष की तीन फर्मों समेत छह फर्म व उसके आठ निदेशक व साझेदारों को नोटिस जारी किया गया है।
जल्द ही इनके खिलाफ भी चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की जा सकती है। पीयूष की तीनों फर्मों पर लगभग 497 करोड़ रुपये जीएसटी की देनदारी निकाली गई है। इस बात का खुलासा डीजीजीआई के विशेष लोक अभियोजक अम्बरीष टंडन ने किया।
अम्बरीष ने बताया कि मेसर्स ओडोचैम इंडस्ट्रीज, मेसर्स फ्लोरा नेचुरले, मेसर्स ओडोसेंथ आईएनसी व उसके साझेदार पीयूष कुमार जैन, अम्बरीष कुमार जैन, महेश चंद्र जैन, मेसर्स त्रिमूर्ति फ्रेग्रेंस प्रा.लि. व उसके निदेशक दीपक अग्रवाल को नोटिस जारी किया गया है।
290 करोड़ रुपये और चुकाने पड़ेंगे
इसके अलावा, मैनेजर शैलेंद्र मित्तल, मेसर्स गणपति रोड कैरियर्स प्रा.लि. व उसके निदेशक प्रवीण कुमार जैन, रजत जैन, मेसर्स एस. कुशलचंद इंटरनेशनल प्रा.लि. व उसके निदेशक सुनील ए.हिरानी को भी नोटिस भेजा गया है। इनके खिलाफ विवेचना लगभग पूरी हो गई है। जल्द ही इनके खिलाफ भी मुकदमा चलाने के लिए कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। डीजीजीआई ने 497 करोड़ की देनदारी निकाली है। लगभग 207 करोड़ रुपये सीज किया जा चुका है। इस लिहाज से पीयूष को लगभग 290 करोड़ रुपये और चुकाने पड़ सकते हैं।

 

फाइल फोटो 

07 May, 2023

14 से 21 जून तक भारत और बांग्लादेश के बीच व्यापारिक गतिविधियां और रेल सेवाएं तक बंद रहेंगी
मिताली एक्सप्रेस और खुलना से कोलकाता जाने वाली बंधन एक्सप्रेस ईद अवकाश के दौरान
गौतम अडाणी मुकेश अंबानी को पछाड़ा कर बने एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति,
अब दुनिया के 11वें सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं।
इंडिगो के विमान में बम होने की धमकी से मचा हड़कंप, मुंबई में कराई आपात लैंडिंग
जांच में विमान में कोई बम नहीं मिला है।
टाटा के अधिग्रहण के बाद एयर इंडिया ने 18,000 कर्मचारीयो की पहली वेतन वृद्धि की घोषणा की
वेतन वृद्धि और कंपनी और व्यक्तिगत प्रदर्शन के आधार पर
मजबूत भुगतान सेवाओं के लिए UPI, कार्ड प्रोसेसिंग व EMI पर ध्यान केंद्रित करेगा पेटीएम
पेटीएम को सरकार से सबवेंशन भुगतान से लाभ मिलता है