Hindi News Portal
व्यापार

पहली बार भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 500 अरब डॉलर के पार

दुनिया कोरोना की मार झेल रहा है इसी वक्त देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है और इसी के चलते भारत के विदेशी मुद्रा भंडार ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 8.22 अरब डॉलर बढ़कर रिकॉर्ड 500 अरब डॉलर के पार पहुंच कर 501.70 अरब डॉलर हो गया है। 5 जून को सप्ताह के आखरी दिनों में विदेशी मुद्रा भंडार में लगभग 8 अरब डॉलर की वृद्धि हुई जिससे यह 500 अरब डॉलर के आंकड़े को पार कर गया। जोकि चीन और जापान के बाद हो गया है |
जब देश की अर्थव्यवस्था बेपटरी है तब विदेशी मुद्रा भंडार में रिकॉर्ड बढ़ोतरी राहत भरी खबर है।
भारत के विदेश मुद्रा भंडार ने रिकॉर्ड 500 अरब डॉलर का आंकड़ा पार कर लिया है। दूसरे देशों के विदेशी मुद्रा भंडार की तुलना में भारत से आगे अब बस दो देश हैं। चीन और जापान का ही भारत से ज़्यादा विदेशी मुद्रा भंडार है। विदेशी मुद्रा भंडार में भारत अब तीसरे स्थान पर है। भारत के विदेशी मुद्रा भंडार की यह धनराशि एक वर्ष के आयात के खर्च के बराबर है।

एक और जहां देश और दुनिया में लॉकडाउन के कारण सारी गतिविधियों ठप हैं। अगले छमाही में देश की जीडीपी ग्रोथ के नेगेटिव रहने का अनुमान है। ऐसे में दूसरी ओर लॉकडाउन की वजह से देश का विदेश मुद्रा भंडार मज़बूत हुआ है। दरअसल, लॉकडाउन लागू होने की वजह से ईंधन का उपयोग और उसकी मांग दोनों ही कम हो गई। जिस वजह से कच्चे तेल के दामों में भारी गिरावट देखने को मिली थी। इस वजह से एक तो सरकार ने कच्चे तेल की खरीदारी कम दामों पर की। इसका फायदा यह हुआ कि सरकार को अपनी जेब से कच्चे तेल की खरीदारी के लिए कम डॉलर खर्च करने पड़े।और ऐसा माना जा रहा है की आने वाले 3-4 महीनों में विदेशी कम्पनियों ने भारतीय बाज़ार में निवेश बढ़ाया है। जिस वजह से भारतीय शेयर बाज़ार में एक बार फिर गति होगी |

13 June, 2020
Share |

ग्राहक का बैंक के ड्रॉप बॉक्स में चेक डालना सुरक्षित नही है
बैंकों के ग्राहक को के चेतावनी की ड्राप बॉक्स में चेक डालना आपके लिये खतनाक हो सकता है क्योंकि अब आपके एकाउंट पेई चेक भी सुरक्षित नहीं है.
आज से पूरे देश में अनलॉक-2 लागू, बैंकों में मिली कई छूट खत्म, यहां जानें बड़े बदलाव
बुधवार से सभी बैंकों के खाताधारकों को एटीएम से कैश ट्रांजेक्शन करने पर किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी. पहले की तरह हर महीने केवल मेट्रो शहरों में आठ और नॉन मेट्रो शहरों में 10 ट्रांजेक्शन ही लोग कर सकेंगे.
पहली बार भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 500 अरब डॉलर के पार
चीन-जापान के बाद भारत का विदेशी मुद्रा भंडार सबसे ज्यादा
चीन को सबक सिखाएगी दुनिया, 'भविष्य की राह' दिखा रहा भारत
कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को अपने शिकंजे में कसा हुआ है. भारत के लिए भी ये चुनौती भरा वक्त है लेकिन इस चुनौती में एक अवसर भी छिपा हुआ है.
कोरोना संकट के बीच IT सेक्टर के लिए आई बुरी खबर, Lockdown लंबा चला तो जा सकती हैं नौकरियां: आर चंद्रशेखर
यदि मौजूदा स्थिति और खराब होती है तो स्टार्टअप्स (Stratups) के लिए दिक्कत आ सकती है. स्टार्टअप कंपनियां उद्यम पूंजीपतियों से मिले कोष से चल रही हैं.