Hindi News Portal
विदेश

राष्ट्रपति चुनाव में तोडफ़ोड़ मामले में ट्रम्प ने न्यायाधीश को हटाने की मांग की

वाशिंगटन ,13 सितंबर । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में तोडफ़ोड़ मामले में संघीय न्यायाधीश को हटाने की मांग की है। ट्रम्प के वकीलों ने अमेरिकी जिला न्यायाधीश तान्या छुटकन की टिप्पणियों पर तर्क दिया। टिप्पणियां पिछली 06 जनवरी को दो प्रतिवादियों को सजा सुनाते समय की गई थी। न्यायाधीश छुटकन ने संकेत दिया कि उनका मानना है कि ट्रम्प पर 'मुकदमा चलाया जाना चाहिए और कैद किया जाना चाहिए।‘
पूर्व राष्ट्रपति के वकीलों ने अदालत में दायर याचिका में कहा कि न्यायाधीश छुटकन ने अन्य मामलों के संबंध में सुझाव दिया है कि ट्रम्प पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए और उन्हें जेल में डाल दिया जाना चाहिए। मामला शुरू होने से पहले और उचित प्रक्रिया के बिना दिए गए ऐसे बयान स्वाभाविक रूप से अयोग्य ठहराने वाले हैं।
ट्रम्प पर अमेरिकी विशेष वकील जैक स्मिथ द्वारा 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों को विकृत करने के कथित प्रयास को लेकर चार आरोप लगाए गए हैं। वह आपराधिक आरोपों का सामना करने वाले पहले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति हैं। उन्हें चार मामलों में दोषी ठहराया गया है। उन्होंने हालांकि सभी आरोपों में खुद को निर्दोष बताया है। ट्रम्प ने जॉर्जिया मामले में सामने आए सात मामलों को खारिज करने की भी मांग की। उन्होंने तर्क दिया कि राष्ट्रपति के रूप में अपनी आधिकारिक क्षमता में किए गए कार्यों के लिए उन्हें अभियोजन से छूट प्राप्त है।

13 September, 2023

पाकिस्तान ने जासूसी के आरोप में गिरफ्तार दो भारतीयों को राजनयिक पहुंच मिलनी कराई
पाकिस्तान के विदेश विभाग ने मामले में कोई बयान जारी नहीं किया है,
कनाडा में 3 भारतीय गिरफ्तार, खालिस्तानी अलगाववादी निज्जर की हत्या से संबंध
निज्जर की हत्या का काम भारत सरकार ने सौंपा था
कंगाली की राह पर पाकिस्तान, एक करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे जा सकते हैं ; वर्ल्ड बैंक ने जारी की रिपोर्ट
आर्थिक वृद्धि मामूली 1.8 प्रतिशत पर स्थिर रहने का अनुमान है।
रूस में फिर राष्ट्रपित बनने की ओर अग्रसर पुतिन ने नागरिकों को धन्यवाद दिया , कहा कि रूस बनेगा मजबूत
यूक्रेन युद्ध में भाग ले रहे सैनिकों के प्रति आभार भी जताया।
शाहबाज शरीफ पाकिस्तान के 24वें प्रधानमंत्री चुने गए
गठबंधन का नेतृत्व करने के लिए शहबाज का समर्थन किया