Hindi News Portal
विदेश

पाकिस्तान से PoK पर अवैध कब्जा खाली करने के लिए भारत ने कहा

संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर से अपने भाषण में जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाए जाने पर भारत ने जमकर फटकार लगाई ओर स्पष्ट रूप से कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। इतना ही नहीं, भारत ने पाकिस्तान से PoK पर अवैध कब्जा खाली करने के लिए भी कहा है। शनिवार को यूएन में भारत के जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए इंडिया मिशन के फर्स्ट सेक्रेट्री मिजितो विनितो ने अपने भाषण मै स्पष्ट कहा कि कश्मीर पर अब सिर्फ पाकिस्तान कब्जे वाले कश्मीर की बात बची है। और उसे खाली करने को कहा है ।

उधर, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि, राजदूत टी एस तिरुमूर्ति ने ट्वीट किया, ‘‘पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का बयान एक और कूटनीति गिरावट है। एक और झूठ का पुलिंदा, निजी हमले और पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों पर अत्याचारों और सीमा-पार आतंकवाद को छिपाने का प्रयास है।’’ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने पहले से रिकॉर्ड किये वीडियो संबोधन में जम्मू-कश्मीर समेत भारत के आतंरिक मामलों का जिक्र किया था। जब इमरान खान के भाषण में भारत का जिक्र आया तब भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव मिजितो विनितो महासभा हॉल से बाहर हो गये ।

26 September, 2020

दुनिया के 40 देशों ने चीन की मानवाधिकार नीतियों की आलोचना की,
पाकिस्तान ने 55 देशों की ओर से एक बयान पढ़ा, जिसमें चीन के मामलों में हस्तक्षेप करने का विरोध किया
पाकिस्तान से PoK पर अवैध कब्जा खाली करने के लिए भारत ने कहा
जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है भारत ने स्पष्ट रूप से कहा गया है
अमेरिका का चीन पर बड़ा खुलासा, भारत को घेरने के लिए यह कदम उठा रहा है ड्रैगन
चीन भारत को घेरने के लिए पड़ोसी देशों को साधने में लगा है। इसके साथ हीं चीन भारत के तीन पड़ोसी देशों समेत करीब एक दर्जन देशों में मजबूत ठिकाना स्थापित करने का प्रयास कर रहा है ताकि उसकी पीएलए लंबी दूरी तक अपना सैन्य दबदबा बनाये रख सके।
नीरव मोदी की हिरासत अवधि 27 अगस्त तक बढ़ी, सुनवाई सितम्बर में शुरू होगी
भगोड़े हीरा व्यवसायी नीरव मोदी की हिरासत अवधि 27 अगस्त तक बढ़ा दी गई है। दो अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले और धनशोधन मामले के आरोपी नीरव को ब्रिटेन की एक अदालत के समक्ष वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पेश किया गया।
ट्रंप का चीन को बड़ा झटका, 15 सितंबर से पहले नहीं किया यह काम तो US में बैन हो जाएंगे TikTok-Wechat
बैन के आदेश पर हस्ता क्षर के बाद ट्रंप ने कहा कि यह बैन जरूरी है क्यों कि अविश्व सनीय ऐप जैसे TikTok से डेटा का इकट्ठा किया जाना देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।