Hindi News Portal
राज्य

बेंगलोर में एक साथ 15 स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी का मेल मिला , शिक्षा विभाग और प्रशासन में हड़कंप मचा

बेंगलुरु 01 दिस. : कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के लगभग 15 स्कूलों को शुक्रवार सुबह बम की धमकी वाले ईमेल मिले हैं। जिसके बाद पूरे इलाके में तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। हालांकि, प्रशासन ने सभी स्कूलों को खाली करने का आदेश दे दिया गया है, लेकिन उन्हें संदेह है कि किसी ने जानबुझकर ऐसा मेल किया है। फिलहाल, सभी संभावनाओं को खारिज करने से पहले पूरी जांच की जा रही है। कई स्कूलों के पास बम स्क्वॉड टीम जांच में जुट गई है।
डिप्टी सीएम ने भी इस खबर की जानकारी मिलने के तुरंत बाद एक स्कूल का दौरा किया। उन्होंने कहा, “मैं टीवी देख रहा था, मेरे घर के सामने वाले स्कूल को भी एक धमकी भरा मेल मिला। मैं जांच करने के लिए यहां आया। अब तक यह एक धमकी भरा कॉल ही लग रहा है, लेकिन हमें इसे लेकर बहुत सतर्क रहना होगा।”
उन्होंने कहा, “माता-पिता थोड़े परेशान हैं, लेकिन चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। पुलिस इस पर गौर कर रही है। कुछ शरारती लोगों ने ऐसा किया होगा, 24 घंटे में हम उन्हें पकड़ लेंगे। साइबर क्राइम पुलिस सक्रिय है, वे अपना काम कर रहे हैं। हमें भी सतर्क रहना चाहिए और लापरवाही नहीं करनी चाहिए।”
इस खबर पर कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने कहा, “पुलिस जांच करेगी और मैंने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है। सुरक्षा उपाय किए गए हैं और माता-पिता को घबराने की जरूरत नहीं है। मैंने पुलिस को स्कूलों का निरीक्षण करने और सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश दिया है। पुलिस विभाग से प्रारंभिक रिपोर्ट प्राप्त हो गई है।”
पुलिस ने बताया कि स्कूल अधिकारियों ने तुरंत पुलिस को इस मेल की जानकारी दी, जिसक बाद पुलिस बम निरोधक दस्तों और तोड़फोड़ रोधी जांच टीमों के साथ संबंधित संस्थानों में पहुंची। पुलिस ने कहा कि छात्रों और कर्मचारियों को तुरंत स्कूल परिसर से बाहर निकाल लिया गया। हालांकि, अभी तक कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली है। जैसे ही माता-पिता को घटना के बारे में पता चला, वे तुरंत अपने बच्चों को लेने के लिए स्कूल में पहुंचे हैं।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी न कहा, “ईमेल में दावा किया गया है कि स्कूल परिसर में विस्फोटक लगाए गए हैं। हमें कमांड सेंटर से एक कॉल मिली और हमने तुरंत अपनी टीमों को उन स्कूलों में भेजा। सभी छात्रों और कर्मचारियों को स्कूल परिसर से सुरक्षित निकाल लिया गया है और गहन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।”
शुरुआती जांच से ऐसा लग रहा है कि यह एक फर्जी संदेश है। पुलिस ने कहा, “अभिभावकों को घबराने की जरूरत नहीं है, हमारी टीमें काम कर रही हैं।” पुलिस ने कहा कि पिछले साल भी, कुछ शरारती तत्वों ने बेंगलुरु के स्कूलों में बम की धमकी के बारे में दावा करते हुए ऐसे ईमेल भेजे थे, जो बाद में एक फर्जी संदेश निकला।

01 December, 2023

हिमाचल विधानसभा के स्पीकर ने बजट सत्र में BJP के 15 विधायक को सस्पेंड किया
स्पीकरने विपक्षी विधायकों पर धक्का मुक्की और गाली गलौज का आरोप लगाए गए
हायकोर्ट ने संदेशखाली मामले में स्पष्ट,किया किसी भी राज्य या केंद्रीय एजेंसी को शाहजहां को गिरफ्तार करने का कोई प्रतिबंध नहीं है।
पश्चिम बंगाल पुलिस और सीबीआई की संयुक्त जांच टीम के गठन पर रोक है,
हिमाचल के साथ असम और बंगाल में भी कांग्रेस को तगड़ा झटका, बड़े नेताओं ने पार्टी छोड़ी
बागची भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं
06 माह के भीतर ही पूर्ण शुचिता के साथ फिर से आयोजित होगी परीक्षा : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री का निर्देश युवाओं की मेहनत से खिलवाड़ करने वालों के कठोरतम कार्रवाई खिलाफ होगी
टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने संदेशखाली विवाद पर अपनी तोड़ी चुप्पी, कही यह बात
सांसद ने अपने पोस्ट में अखबार की एक कटिंग भी शेयर की है